बिटकॉइन क्या है पूरी जानकारी हिंदी में?

बिटकॉइन क्या है पूरी जानकारी हिंदी में?

बिटकॉइन क्या है और किसने बनाया| क्या आपको (฿)बिटकॉइन खरीदना चाहिए या नहीं| (฿)बिटकॉइन्स की सुरक्षा का आधार क्या है| यह कितना सुरक्षित है और कितना नहीं| इसको कैसे खरीदें और इससे अमीर कैसे हो सकते हैं| पूरी दुनिया में कितने बिटकॉइन्स उपलब्ध हैं| सरकार का इन पर अधिकार क्यों नहीं है| यदि आप बिटकॉइन्स के बारे में विस्तार से सब कुछ जानना चाहते हो| यदि आप चाहते हो कि मैं आपको बताऊं कि बिटकॉइन में इन्वेस्ट करना आपके लिए लाभकारी होगा या नहीं| ऐसे ही बहुत सारे सवालों के जवाब आप इस आर्टिकल में जानोगे|

बिटकॉइन क्या है पूरी जानकारी हिंदी में?
बिटकॉइन क्या है पूरी जानकारी हिंदी में?

Symbol: BTC, , ₿

(฿)बिटकॉइन क्या है और किसने बनाया?

बिटकॉइन का इतिहास

बिटकॉइन एक प्रकार की डिजिटल वर्चुअल क्रिप्टोकरंसी है| यदि बात करें क्रिप्टोकरंसी की तो पहली क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन्स ही है| सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकरंसी भी बिटकॉइन्स ही है| बिटकॉइन्स का आविष्कार 2008 तथा 2009 के बीच किया गया था| बिटकॉइन्स का आविष्कार सतोशी नाकामोतो के द्वारा 3 जनवरी 2009 को किया गया था|

बिटकॉइन क्या है?

बिटकॉइन्स एक ऐसी डिजिटल करेंसी है जिसको आप ना तो छू सकते हो ना ही देख सकते हो| इसका मतलब यह है कि जैसे आप अपने देश की करेंसी को अपने हाथ में रख सकते हो| आपके देश की करेंसी का आपके केंद्रीय बैंक का उस पर अधिकार होता है| वह करेंसी सरकार के द्वारा लागू की जाती है| जिस करेंसी का इस्तेमाल वस्तुओं और सेवाओं को खरीदने के लिए करते हो वह करेंसी क्रिप्टोकरंसी से अलग है| क्रिप्टोकरंसी एक ऐसी करेंसी है जिसका इस्तेमाल आप कंप्यूटर के माध्यम से ही कर सकते हो|

यदि आप अपने देश की मुद्रा को किसी भी दुकान पर इस्तेमाल कर सकते से जो कि आपके देश में स्थित है वह मुद्रा मान्य होगी| लेकिन क्रिप्टोकरंसी का इस्तेमाल आप केवल वही कर सकते हैं जहां यह करेंसी मान्य है| करेंसी की मान्यता निर्भर करता है सामने वाले व्यक्ति पर क्या वह बिटकॉइन्स पर इंटरेस्ट है या नहीं| क्योंकि यह सरकार के अंतर्गत नहीं होती है इसलिए यदि आप की करेंसी चोरी होती है या खो जाती है तो आप इसकी शिकायत सरकार को नहीं कर सकते|

बिटकॉइन्स के कीमत की निर्भरता

लेकिन बिटकॉइन्स की कीमत दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं| बिटकॉइन्स एक ऐसी डिजिटल करेंसी है जो इतनी असुरक्षित होकर भी बहुत ज्यादा प्रचलन में है| 1 बिटकॉइन का प्राइस निर्भर करता है इसकी मांग और पूर्ति पर| यानी कि बिटकॉइन की कीमत पर इसकी मांग और पूर्ति का नियम लागू होता है| यदि बिटकॉइन्स की मांग बढ़ती है तो इसकी कीमत अपने आप बढ़ जाएगी यदि मांग कम होगी तो उसकी कीमत अपने आप कम हो जाएगी| बिटकॉइन्स की सप्लाई लिमिटेड है| यदि टोटल बिटकॉइन्स की बात की जाए तो हमारे पास इस समय 21 मिलियन बिटकॉइन्स ही उपलब्ध है| यानी कि कुल बिटकॉइन्स की संख्या 2,10,00,000 है|

आभासी निवेश और वास्तविक निवेश

जब आप बिटकॉइन्स क्रिप्टोकरंसी खरीदते हो तो इसको आभासी निवेश कहते हैं| लेकिन जब आप शेयर्स, म्यूच्यूअल फंड, डिवेंचर, इत्यादि खरीदते हो तो इसको वास्तविक निवेश कहते हैं| आभासी निवेश अभिप्राय उस निवेश से हैं जिसमें आप ऐसे करेंसी पर निवेश करते हैं जो वास्तव में है ही नहीं| अर्थात क्रिप्टोकरेंसी|

क्रिप्टोकरेंसी में यदि आप निवेश करते हैं जैसे बिटकॉइन्स खरीद लेना यह बिटकॉइन्स जैसी अन्य डिजिटल मुद्रा खरीदना| ऐसी मुद्रा खरीदना जिसका अस्तित्व केवल और केवल इंटरनेट पर ही अवेलेबल है| जिसको आप छू नहीं सकते जिसको आप देख नहीं सकते ऐसी मुद्रा में निवेश करना आभासी निवेश कहलाता है इसको इंग्लिश में वर्चुअल इन्वेस्टमेंट virtual investment भी कहते हैं|

वहीं दूसरी तरफ वास्तविक निवेश Real Investment से अभिप्राय उस निवेश से हैं, जब आप ऐसे करेंसी या वस्तु पर निवेश करते हो जो कि वास्तव में अवेलेबल है| अर्थात ऐसी करेंसी जिसको आप छू सकते हो, देख सकते हो| जैसे म्यूच्यूअल फंड, शेयर मार्केट, देबेंचर्स, प्रॉपर्टी खरीदना, इत्यादि|

(฿)बिटकॉइन का लाभ और नुकसान

बिटकॉइन्स के लाभ और नुकसान को हम वास्तविक निवेश तथा आभासी निवेश के अंतर से पहचानेंगे| अंतर के आधार नीचे दिए गए हैं और उन्हें के अनुसार हम उनके बीच अंतर को पहचानेंगे|

पूर्वानुमान

यदि आप बिटकॉइन्स खरीदना चाहते हो तो आप इसका पूर्वानुमान नहीं लगा सकते| लेकिन यदि आप शेयर मार्केट में शेयर खरीदना चाहते हो तो आप इसका पूर्व अनुमान लगा सकते हैं| बिटकॉइन्स एक ऐसे क्रिप्टोकरंसी है जिसका पूर्व अनुमान लगाना बेतुकी है| क्योंकि इसकी कीमत का दिन पर दिन उतार-चढ़ाव काफी तेजी से होते हैं| वहीं दूसरी तरफ से यदि आप म्यूच्यूअल फंड, इत्यादि खरीदते हैं तो यहां पर आप पूर्व अनुमान लगा सकते हो|

जोखिम भरा

वैसे बिटकॉइन एक ऐसी क्रिप्टोकरंसी है जो जोखिम से भरी है क्योंकि इसकी कीमत बहुत जल्दी फ्लकचुएट होती है| जबकि शेयर मार्केट में ऐसा नहीं होता| प्रोफेसर की माने तो ऐसा कहते हैं कि यदि ऐसे इन्वेस्टमेंट जो कि 1 दिन में 30% से ज्यादा फ्लकचुएट होते हैं| वह इन्वेस्टमेंट बहुत ज्यादा जोखिम भरा होता है| जो की अक्सर बिटकॉइन्स क्रिप्टोकरंसी में पाया जाता है|

वापसी

यदि आप बिटकॉइन से लेनदेन करते हो| और गलती से आप किसी दूसरे अकाउंट में बिटकॉइन्स ट्रांसफर कर दो| तो आप उससे तब तक बिटकॉइन्स वापस नहीं ले सकते जब तक वह खुद वापस नहीं करता| क्योंकि बिटकॉइन से संबंधित कोई भी कानून नहीं बनाया गया है| अर्थात बिटकॉइन खरीदना तथा बेचना एक व्यापार संबंधी प्रक्रिया है| लेकिन ऐसे में यदि आप किसी गलत अकाउंट में बिटकॉइन्स ट्रांसफर कर देते हो तो इसका भुगतान आपको स्वयं उठाना पड़ेगा|

गणना

बिटकॉइन्स क्रिप्टोकरंसी के संबंध में गणना करना काफी कठिन होता है| यदि आप शेयर मार्केट म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करते हो तो वहां आप कैलकुलेशन कर सकते हो| इसकी संभावना ज्यादा है कि आपका कैलकुलेशन काफी ज्यादा सटीक बैठेगा| लेकिन कृपया करेंसी के संबंध में यदि आप कैलकुलेशन करते हो तो इसकी संभावना ना के बराबर है कि आपका कैलकुलेशन ठीक ही जाएगा| बिटकॉइन क्रिप्टोकरंसी आपको और रातों-रात अमीर भी बना सकता है और गरीब भी|

योजना

यदि आप क्रिप्टोकरंसी इसलिए खरीद रहे हो ताकि आप अपने बच्चे का भविष्य उज्जवल बना सको| तो आप गलत सोच रहे हो क्योंकि बिटकॉइन्स एक ऐसी क्रिप्टोकरंसी है जिसका प्राइज कब बढ़ जाए और कब घट जाए इसका कोई पता नहीं है| यदि आप बिटकॉइन्स खरीदकर योजना बनाते हो भविष्य की तो यह आपके लिए गलत साबित हो सकता है| क्योंकि बिटकॉइन्स एक ऐसी क्रिप्टोकरंसी है जिसकी कीमत दिन पर दिन फ्लकचुएट होती है| और ऐसा भी हो सकता है कि आपके बिटकॉइन्स का प्राइस जीरो हो जाए|

कम विश्वसनीयता

शेयर मार्केट के लिए गवर्नमेंट टीम बैठी होती है और इसकी शिक्षा दी जाती है इसलिए शेयर मार्केट, म्यूच्यूअल फंड, प्रॉपर्टी, में इन्वेस्ट करना एक विश्वसनीय निवेश होता है| वहीं दूसरी तरफ यदि आप क्रिप्टोकरंसी में इन्वेस्ट करते हो तो इसे कम विश्वसनीय इसलिए माना जाता है क्योंकि यह जो कि हमसे बड़े होने के साथ-साथ इसकी शिक्षा बहुत कम लोगों के पास है|

टैक्स लाभ

क्योंकि बिटकॉइन सरकार के दायरे में नहीं होती है इसलिए इस पर टैक्स भी लगता है| बिटकॉइन्स में जब आप इन्वेस्ट करते हो तब भी आप पर टैक्स लगेगा और यदि आपको कोई रिटर्न होगा तो भी आप पर टैक्स लगेगा| लेकिन यदि शेयर मार्केट की बात करें तो ऐसा नहीं होता यदि आप शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करते हो तो उसके रिटर्न होने पर आपको टैक्स नहीं देना पड़ता वह टैक्स फ्री प्रॉफिट होता है| अर्थात बिटकॉइन में टैक्स लगता है|

सरकार प्रोत्साहन

यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करते हो तो सरकार आप को प्रोत्साहित करते हैं| लेकिन बिटकॉइन में निवेश करना पर सरकार आपको प्रोत्साहित नहीं करती| क्योंकि बिटकॉइन में निवेश करना एक टैक्स बचाने के लिए किया जाता है| बहुत सारे लोग बिटकॉइन में इसलिए पैसा लगाते हैं क्योंकि वह सरकार से छुपाते हैं सरकार को बताना नहीं चाहते| अर्थात लोग क्रिप्टो करेंसी इसलिए खरीदते हैं ताकि वह टैक्स बचा सके| लेकिन शेयर मार्केट में ऐसा नहीं होता यहां पर सरकार को भी फायदा होता है इसलिए सरकार शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट को प्रोत्साहित करती है| जबकि बिटकॉइन में सरकार इन्वेस्टमेंट करने के लिए प्रोत्साहित नहीं करती क्योंकि यहां से सरकार को कोई फायदा नहीं होता|

हैकिंग

यदि आपकी बिटकॉइन कोई हैक कर लेता है तो इसकी शिकायत आप किसी को नहीं कर सकते| और यदि आप शिकायत करते भी हैं तो इसका कोई फायदा नहीं होगा| जबकि यदि आप डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या किसी प्रकार की ऐसी करेंसी का इस्तेमाल करते हो जिस पर कोई मेडिएटर काम कर रहा है तो इस केस में आप मेडिएटर को शिकायत कर सकते हो यदि आप की करेंसी कोई हैक करता है|

एक उदाहरण के द्वारा समझते हैं| जब आप बिटकॉइन्स खरीदते हो तो आपके मेडिएटर्स में कोई नहीं होता जिसकी वजह से आप किसी को शिकायत नहीं कर सकते| लेकिन जब आप शेयर खरीदते हैं तो बीच में मेडिएटर होता है जिसको आप शिकायत करते हैं और वह मेडिएटर पता लगा सकता है कि आपकी करेंसी किसने हैक की है| और इस केस में आपको हैक किया हुआ करेंसी वापस मिल सकता है| लेकिन वर्चुअल डिजिटल करेंसी में ऐसा संभव नहीं है क्योंकि बिटकॉइन्स की संबंध में बीच में कोई मेडिएटर्स काम नहीं कर रहा है|

मध्यस्थ

बिटकॉइन क्रिप्टोकरंसी के संबंध में कोई भी मध्यस्थ नहीं होता| अर्थात मध्य ना होने की वजह से यहां पर एक फायदा होता है जो कि आपको मेडिटर कमीशन से बचाता है| वहीं दूसरी तरफ यदि बात करें रियल इन्वेस्टमेंट जैसे शेयर्स, डिवेंचर, म्यूच्यूअल फंड, इत्यादि में मेडिएटर होते हैं जिसकी वजह से यहां पर प्राइस ज्यादा जाते हैं|

बीमा

यदि आप बिटकॉइन क्रिप्टो करेंसी को खरीद कर उसका इंश्योरेंस कराना चाहते हैं तो यह संभव नहीं है| अर्थात इसमें मेडिएटर से ना होने की वजह से जोखिम भी होता है और इंश्योरेंस भी नहीं होता उसका| लेकिन यदि आप कोई प्रॉपर्टी में निवेश करते हैं तो उसका आप बड़ी आसानी से इंश्योरेंस यानी की बीमा करा सकते हैं|

निष्कर्ष

संक्षेप में यही बात निकल कर सामने आती है यदि आप बिटकॉइन क्रिप्टोकरंसी में इन्वेस्ट करते हैं| बिटकॉइन्स क्रिप्टोकरंसी जोखिम से भरा हुआ है और यहां प्रॉफिट भी काफी ज्यादा है| क्योंकि यहां पर प्रॉफिट काफी तेजी से बढ़ सकता है इसलिए बिटकॉइन्स आपको रातो रात अमीर भी बना सकता है| लेकिन यहां पर प्रॉफिट काफी तेजी से गिर सकता है जिससे कि आप रात रात गरीब भी बन सकते हो|

बिटकॉइन कैसे खरीदें

क्रिप्टोकरंसी कई प्रकार की होती है और यह इस समय 5000 से भी ऊपर है| लेकिन बिटकॉइन एक ऐसी क्रिप्टोकरंसी है जो कि दुनिया में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाने वाली है| जब 3 जनवरी 2009 को बिटकॉइन्स बनाया गया था तब इसकी कीमत लगभग 0.04 Paisa थी| जो कि वर्तमान में इसकी कीमत बढ़ कर 36,19,078 Rsहो गई है| इसकी कीमत काफी तेजी से बढ़ते और घटते हैं| अर्थात यह जोखिम से भरा हुआ है जितना अधिक जोखिम इसमें हैं उतना ही अधिक प्रॉफिट भी इसी में है|

  • In 2009, 1 ฿ = 0.04 Paisa
  • In 2021, 1 ฿ = 3619078.88 Rs.

बिटकॉइन्स को आप मार्केट में बड़ी आसानी से खरीद सकते हैं इसको खरीदने के लिए आपको कई प्रकार के ऐप मिल जाएंगे| जैसे कुछ ऐप में आपको नीचे दे देता हूं इनका इस्तेमाल करके आप क्रिप्टोकरंसी खरीद सकते हैं|

Zebpay App, Unocoin App, etc

आवश्यक दस्तावेज: वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक खाता

बिजनेसमैन के बिटकॉइन के बारे में विचार

क्रिप्टोकरंसी सुरक्षित है या असुरक्षित| इससे आपको लाभ होगा या नुकसान इसका फैसला करने से पहले हम कुछ ऐसे बिजनेसमैन के बारे में जानते हैं तथा उनके क्रिप्टोकरंसी के प्रति विचार को समझते हैं| इनके विचार को समझने के बाद आप खुद ही फैसला कीजिए कि बिटकॉइन्स आपके लिए सुरक्षित है या नहीं| इससे आपका भविष्य उज्जवल होगा या नहीं|

वारेन बफे क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते हैं|

वारेन बफे क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते हैं|
वारेन बफे क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते हैं| Source: ZeeNews

“वारेन बफे के मुताबिक, डिजिटल करेंसी लंबे समय तक नहीं टिकेगी. साथ ही, उन्होंने यह भी साफ किया है कि वो खुद कभी किसी डिजिटल करेंसी में निवेश नहीं करेंगे”

डिजिटल मुद्रा समूह क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते हैं|

चार्ली मुंगेर क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते है
चार्ली मुंगेर क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते है| Source: cnbc

 

राकेश झुनझुनवाला क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते हैं

राकेश झुनझुनवाला क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते हैं
राकेश झुनझुनवाला क्रिप्टोकरंसी के बारे में क्या कहते हैं | Source: navbharattimes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

वेब ब्राउजर (Web Browser) क्या है हिंदी में पूरी जानकारी?

Mon May 17 , 2021
वेब ब्राउजर (Web Browser) क्या है हिंदी में पूरी जानकारी? वेब ब्राउजर (Web Browser) क्या […]
वेब ब्राउजर (Web Browser) क्या है हिंदी में पूरी जानकारी?