भगवान श्री कृष्ण के 10 प्रमुख अवतारों की लीलाएं जानेंगे

भगवान श्री कृष्ण के 10 प्रमुख अवतारों की लीलाएं जानेंगे

आज हम, भगवान श्री कृष्ण के 10 प्रमुख अवतारों की लीलाएं जानेंगे| यदि आपके मन में सवाल आए कि भगवान श्री कृष्ण के कितने अवतार हैं| इसका आपके पास क्या जवाब होगा|

यदि वेदों की मानें तो भगवान श्री कृष्ण के अनगिनत अवतार हैं| यानी कि भगवान श्रीकृष्ण ने कई सारे अवतार लिए हैं जिनकी गिनती भी नहीं की जा सकती| तो फिर हम ऐसा क्यों कहता है.

भगवान श्री कृष्ण के 10 प्रमुख अवतारों की लीलाएं जानेंगे
भगवान श्री कृष्ण के 10 प्रमुख अवतारों की लीलाएं जानेंगे

कि भगवान श्री कृष्ण के 10 अवतार| एक्चुअल में भगवान श्रीकृष्ण के 10 प्रमुख अवतार की लीलाओं की बात ज्यादातर की गई है| लोगों को भगवान श्री कृष्ण के 10 अवतारों की बारे में बताया जाता है|

लो भगवान के 10 अवतारों के बारे में जानकर बहुत खुश होते हैं और सोचते हैं भगवान श्री कृष्ण 10 अवतारों में सीमित| लेकिन सच तो यह है कि भगवान श्रीकृष्ण ने बहुत सारे अवतार लिए हैं|

क्या आपने भगवान श्री कृष्ण के इंद्र सरदारों के बारे में विस्तार से जाना है| यदि आप भगवान श्री कृष्ण के 10 अवतारों के बारे में जानना चाहते हो तो आज हम आपको 10 अवतारों के बारे में विस्तार से बताएंगे|

1 भगवान श्री कृष्ण का पहला अवतार मत्स्य अवतार

यह सदियों के समय की बात है जब वहां पर एक राजा रहा करता था| इस बात का अंदाजा नहीं था लेकिन वह बहुत ही ज्यादा भगवान कृष्ण का भक्त था| भगवान कृष्ण ने अपने भक्तों को दर्शन देने की सोची|

लेकिन भगवान परीक्षा लेना चाहते थे कि मेरा वक्त किस प्रकार का है| उन्होंने एक मछली का रूप धारण कर लिया| जब 1 दिन राजा समुद्र के किनारे आता है तो देखता है कि वहां एक छोटी सी मछली होती| राजा उस मछली को अपने घर लेकर आ जाता है और छोटे से बर्तन में रख देता है|

छोटे से बर्तन में मछली पानी में तैरती होती है| अचानक से वह छोटी सी मछली थोड़ी बड़ी हो जाती है राजा को आश्चर्य होता है लेकिन वह इस पर एक थोड़ी बड़े बर्तन में उस मछली को पटक देता है|

उस मछली को रखता है वह मछली दोबारा से थोड़ी और बड़ी हो जाती है इस पर राजा उसको और बड़े बर्तन में रख देता है| लेकिन यह सिलसिला चलता रहता है|

और राजा समझ नहीं पाता कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है| इतने में राजा अपने घर का सबसे बड़ा बर्तन में मछली को रखता है तो मछली सबसे बड़ी हो जाती है| राजा के पास उससे बड़ा बर्तन नहीं होता तो वह सोचता है|

राजा हार मान जाता है

अभी इस मछली को हमें समुद्र में छोड़ देना चाहिए| राजा हार मान जाता है और वो मछली के सामने हाथ जोड़कर कहता है| हे माया भी मछली आप कौन हैं कृपया मुझे अपने दर्शन देकर बताएं|

मछली के भगवान विष्णु के रूप में आते हैं और उन्हें बताते हैं कि वह उनको बचाने के लिए आए हैं| उस समय वहां पर एक बहुत बड़ा संकट आने वाला है| राजा भगवान कृष्ण की बातों का पालन करता है और वह उस समय अपनी जान तो बचा पाता|

2 कुरमा अवतार

भगवान श्री कृष्ण के दूसरे अवतार में कुरमा अवतार को गिना जाता है| भगवान विष्णु ने यह अवतार समुद्र मंथन को संभव बनाने के लिए लिया था|

समुद्र मंथन आज तक का सबसे बड़ा मंत्र है जो कि पूरे दुनिया में प्रसिद्ध है| प्राचीन काल में हुआ था जिसमें बहुत सारे चीजों की उत्पत्ति हुई थी| समुद्र मंथन को सफल बनाने के लिए भगवान विष्णु ने दूसरे अवतार कुरमा अवतार लिया था|

3 वराह अवतार

विष्णु भगवान ने यह अवतार पृथ्वी की रक्षा के लिए लिया था| उस समय एक शक्तिशाली राक्षस पृथ्वी पर कब्जा कर लिया था और उसको लेकर एक ऐसे समुद्र के नीचे चला गया था जहां से लाना किसी के लिए संभव नहीं था| इसीलिए पृथ्वी को छुड़ाने के लिए भगवान कृष्ण ने उस पृथ्वी को समुद्र के अंदर से निकाला| और उसको निकालने के लिए भगवान ने वराह अवतार लिया था|

4 नरसिम्हा अवतार

भगवान ने नरसिंह अवतार अपने सबसे प्रिय भक्त प्रह्लाद को बचाने के लिए लिया था| और उस समय का सबसे शक्तिशाली राक्षस हिरण कश्यप को उसके पापों का फल देने के लिए भगवान विष्णु ने नृसिंह अवतार के रूप में एक पत्थर के अंदर से जन्म लिया था|

5 वामन अवतार

वामन अवतार भगवान ने प्रहलाद के पोते राजा बलि को उनके कर्मों का फल देने के लिए और साथ ही सृष्टि की रक्षा के लिए जन्म लिया था| भगवान के हर एक अवतार के पीछे कोई ना कोई सच्चाई छिपी होती है| इसी प्रकार वामन अवतार के पीछे भी एक बहुत बड़ी रहस्य छिपा हुआ था|

6 भगवान परशुराम

भगवान विष्णु ने परशुराम का अवतार लिया था| यह भगवान श्री कृष्ण ने उस समय क्षत्रियों को उनके पापों का फल देने के लिए लिया था| उस समय क्षत्रियों ने पृथ्वी पर बहुत सारा पाप कर दिया था और इतना अन्याय करने के बाद धरती माता ने भगवान विष्णु से रक्षा के लिए प्रार्थना की थी| जिसके बदले में भगवान विष्णु ने परशुराम का अवतार लेकर उन क्षत्रियों का वध किया|

7 भगवान श्रीराम

भगवान राम की लीला है तो विश्व प्रसिद्ध है| भगवान राम ने अपना जन्म उस समय के सबसे खतरनाक और शक्तिशाली राक्षस रावण को मारने के लिए अवतार लिया था| रावण एक बहुत ही शक्तिशाली और बुद्धिमान व्यक्ति था| वेदों की मानें तो रावण से ज्यादा शक्तिमान और बुद्धिमान व्यक्ति उस समय कोई नहीं था| लेकिन कहीं ना कहीं उनकी कुछ बुलाई थी जिसकी वजह से भगवान श्री राम के हाथों उनका वध हुआ| लेकिन रावण ने अपने जीवन में इतने अच्छे काम किए थे जिसकी वजह से उनका वध स्वयं श्री राम जी ने आकर किया था|

8 भगवान श्री कृष्ण

विष्णु के सबसे ज्यादा प्रसिद्ध यदि कोई अवतार है तो वह है भगवान श्री कृष्ण| भगवान श्री कृष्ण ने भगवत गीता का उपदेश अर्जुन को दिया जो कि मात्र 48 मिनट में दिया गया था| भगवत गीता का यह वार्तालाप जो कि भगवान श्री कृष्ण और अर्जुन के बीच 48 मिनट के लिए हुआ था| आज पूरी दुनिया में भगवत गीता पढ़ी जाती है और इसका श्रेय ऐसी भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद जी को जाता है| उन्होंने इस्कॉन की स्थापना करके भगवत गीता के प्रचार और प्रसार को बढ़ा दिया|

9 गौतम बुद्ध

ऐसा माना जाता है कि भगवान कृष्ण के ही अवतार थे गौतम बुद्ध| गौतम बुद्ध अहिंसा पर चलने वाले ऐसे व्यक्ति थे|

जिन्होंने लोगों को मुक्ति का मार्ग दिखाया ना कि स्वर्ग और नरक का|

स्वर्ग और नरक तो एक अल्प समय के लिए होते हैं| जो कि पाप और पुण्य के आधार पर तय किए जाते हैं|

जिस समय व्यक्ति का पाप और पुण्य खत्म हो जाता है वह द्वारा पृथ्वी पर जन्म ले लेता है|

इसी प्रकार यदि व्यक्ति मोक्ष की प्राप्ति करता है तो वह जन्म और मरण के इस चंगुल से निकल जाता है|

भगवान गौतम बुद्ध ने लोगों को यही सलाह दी कि वह जन्म और मृत्यु के इस मायावी चक्र से जल्द ही निकल जाए|

10 कल्कि अवतार

भगवान कृष्ण के 10 अवतार में कल्कि अवतार को गिना जाता है और यह माना जाता है कि इनका अवतार भी कई वर्षों बाद होगा|

और यह अवतार तब होगा जब पृथ्वी पर बहुत ज्यादा घोर कलयुग का समय आ जाएगा|

लेकिन फिलहाल इस समय भगवान के भक्त जिंदा है जिसकी वजह से कल्कि अवतार का जन्म अभी नहीं हो सकता|

आशा करता हूं आपको यह पोस्ट पढ़ने में मजा आया होगा यदि आपको एक पोस्ट पढ़कर अच्छा लगा|

तो कृपया करके इसको अपने सभी फ्रेंड के साथ शेयर कीजिए|

कहते हैं यदि हम दूसरों को शिक्षित करते हैं तो भगवान हमें शिक्षित करने के लिए कोई न कोई उपाय निकाल लेता|

तो हमारी यही आशा है कि आप इस पोस्ट को जरुर शेयर करेंगे| जय श्री कृष्णा|


Follow us: on Twitter & Facebook to know Hind News, and Inspirational Thoughts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

दीपावली पर बम पटाखे फोड़ने पर बैन क्यों

Tue Jul 6 , 2021
दीपावली पर बम पटाखे फोड़ने पर बैन क्यों दीपावली पर बम पटाखे फोड़ने पर बैन […]
दीपावली पर बम पटाखे फोड़ने पर बैन क्यों